Thursday, 12 January 2012

ज़िंदगी के कुछ (सुहाने पल)...



यूँ तो ज़िंदगी में हर मोड़ पर 
सुख दुःख आते जाते ही रहते है 
जैसे सर्दियों का सर्द मौसम अक्सर 
लोगों को उदास बना जाता है
क्योंकि घर के बाहर कोई ना नज़र आता है 
मगर यूँ उदास और निराश होकर जीये 
तो क्या जीये, मज़ा तो तब आता है
जब वही कोहरे में छुपा सूरज 
निखर के बाहर आता है 
कभी जब खुद को गर्म कपड़ों में लपेटे 
ठंड में कपन्ती सुकुड़ती  
निकलती हूँ घर के बाहर 
इस उम्मीन्द के साथ   
सर्दी में सर्द पड़ी अपनी ज़िंदगी 
को तुम्हारे प्यार से गरमा सकूँ 
तो सर्द सुबहा में भी धुंध की ओट में 
से चुपके-चुपके मुझे देखकर 
मुसकुराता हुआ सूरज ऐसा नज़र आता है
जैसे तुम्हारा मुसकुराता हुआ चहरा 
कर रहा हो मेरा स्वागत 
एक नई ताज़गी से भरी सुबह के लिए
जो भर देता है मुझ में 
 एक नया जोश और आत्मविश्वास  
हर दिन ज़िंदगी से लड़ने के लिए 
जिसे देख, भर जाती हूँ मैं नई स्फुर्ति से 
सारा दिन तुम बिन बिताने के लिए 
और फिर जब रोज़ की 
भागदौड़ के बाद थक कर मन करता है 
कुछ पल सुकून से बिताने के लिए तो 
इंतज़ार होता है तुम्हारा ढलती 
महकती शाम के साथ 
तुम्हारा भी साथ पाने के लिए तब     
  तुम्हारा वही सूरजमुखी सा चहरा 
बन जाता है मेरे लिए रातरानी सा 
मुझे महकाने के लिए 
और सर्दी की सर्द रातों में 
मुझे मीठे महँकते सपनों से सजी
 चैन और सुकून की नींद सुलाने के लिए..
.पल्लवी

13 comments:

  1. इंतज़ार फिर सुकून ... बहुत अच्छी अभिव्यक्ति

    ReplyDelete
  2. जिंदगी की कई रंगों को खूबसूरती से दिखाया है आपने।


    सादर

    ReplyDelete
  3. आपको लोहड़ी की हार्दिक शुभ कामनाएँ।
    ----------------------------
    कल 13/01/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  4. सुन्दर सकारात्मक प्रस्तुति.

    ReplyDelete
  5. वाह क्या बात है.....:)
    वैसे सर्दियों में उदास रहना नहीं चाहिए ये तो बड़ा ही खूबसूरत मौसम है,
    और जानलेवा भी ;)

    ReplyDelete
  6. आपकी अभिव्यक्ति बहुत अच्छी है.... !! फिर भी , मैं , कहना चाहती हूँ , गर्मी की लू के थपेड़े और बारिश की चिपचिपाहट वाली गर्मी (बिहार की बात है) के बाद सर्दी बहुत अच्छी लगती है.....

    ReplyDelete
  7. सकारात्मक सोच लिए अच्छी प्रस्तुति

    ReplyDelete
  8. achha laga aapke blog par aaker . man ko chho gai aapki rachna .sarthak ban rhi hoon aapka bhi mere blog par sda svagat hae.......

    ReplyDelete
  9. बहुत खूबसूरत एहसास

    ReplyDelete
  10. बहूत हि लाजवाब अभिव्यक्ती है

    ReplyDelete